Pages

Tuesday, August 27, 2013

Karoon Ardaas Mauka Do …

A beautiful bhajan

करूँ अरदास मौका दो ... तुम्हे दिल की सुनानी है ...(३)
अगर फुर्सत मिले तुमको ... नज़र तुमसे मिलनी है ... (३)

मुझे जी भर के मिलना है, तुम्हारे अनगिनत आशिक
कहीं  रुखसत न हो जाये दीवानी जिंदगानी के
अगर फुर्सत मिले तुमको ... नज़र तुमसे मिलनी है
करूँ अरदास मौका दो ... तुम्हे दिल की सुनानी है

तुम्हे अफ़सोस न होगा, हमारे जैसों की खातिर
हमें मायूस करने की, तेरी  आदत पुरानी है
अगर फुर्सत मिले तुमको ... नज़र तुमसे मिलनी है
करूँ अरदास मौका दो ... तुम्हे दिल की सुनानी है

सितम गर तू सितम कर ले
धड़कते दिल की धड़कन से .... (२)
मगर हर एक धड़कन से, तेरी आवाज आनी है

अगर फुर्सत मिले तुमको ... नज़र तुमसे मिलनी है
करूँ अरदास मौका दो ... तुम्हे दिल की सुनानी है

No comments:

Post a Comment